उम्मीदों का प्रबंधन

इच्छा समस्त उम्मीदों की जननी है. मनुष्य होने के नाते यह स्वाभाविक है कि परिवार, मित्रों और सहकर्मियों से उम्मीदें की जाएं। यह भी उतना ही स्वाभाविक है कि दूसरे भी हमसे उम्मीदें करेंगे। उम्मीदों […]

आकर्षित करना सीखिए

हालाँकि आजकल कम दिखाई देते हैं लेकिन आपने सपेरों को कभी न कभी देखा होगा अथवा उनके बारे में सुना जरुर होगा। सपेरे अपने वाद्ययंत्र बीन या पुंगी का इस्तेमाल कर सर्पों को आकर्षित करते […]

धन को प्रवाहित होने दें

संभवतः भारत ही एकमात्र देश है जहाँ धन को देवी की तरह पूजा जाता है। हमारे पूर्वज सहस्त्रों साल पहले धन और संपत्ति का महत्त्व जान गए थे। जिस तरह शरीर में खून वैसे ही […]

लीडर यानी टीम की प्रेरणा

टीम या समूह का प्रदर्शन दरअसल सभी सदस्यों का सकल प्रदर्शन है और टीम की रफ़्तार असल में सबसे कमजोर सदस्य की रफ़्तार है। अतः टीम या समूह के लीडर के पास इसके अलावा कोई […]

प्रेम सार तत्त्व है

कुछ धर्मों के सारतत्त्वों पर गौर करें; जैनधर्म का जोर अहिंसा पर है, बौद्धधर्म का करुणा पर, ईसाई धर्म सेवा या सहायता पर बल देता है, इस्लाम भाईचारे पर तवज्जो देता है और हिंदुत्व आराधना […]