वचनबद्ध बने रहे

वादा करना सोच के, बिन सोचे पछताय। पूरा जो करते वचन, खुद का मान बढाय॥ किसी भी तरह का वादा करने से पहले हजार बार सोचिए लेकिन एक बार वचनबद्ध हो गए तो वचनबद्ध बने […]

शत्रुता से ताकत घटती है

शत्रुता अंतिम विकल्प होना चाहिए और यह फैसला पूरे होशो-हवास में लेना चाहिए. भरसक यही कोशिश रहे कि इस विकल्प का चयन ही न करना पड़े. फिर भी, कई बार समझौते असंभव हो ही जाते […]

प्रवाह के साथ प्रवाहमय

कठिन बदलना है सभी, कर लेना स्वीकार। सीख बहना प्रवाह में, जीवन के दिन चार॥ आध्यात्मिकता के मार्ग पर चलने के लिए यह उपाय ज्यादा कारगर है। ज्ञान और भक्ति के मार्ग कर्म पर प्रबल […]